SEBI क्‍या है। SEBI Full Form क्‍या है।

दोस्‍तों आज भारत में विभिन्‍न कार्यो के लिए विभिन्‍न प्रकार के विभाग तथा बोर्ड है। इन्‍हीं में से एक है, सेबी। आज हम अपने लेख के माध्‍यम से आपको SEBI क्‍या है, SEBI Full Form के बारे में जानकारी हिन्‍दी भाषा से सरल शब्‍दों में उपलब्‍ध करा रहे है।

sebi full form

SEBI ka Full Form :-

यहां हम आपको हिन्‍दी एवं अंग्रेजी दोनों में फुल फार्म बता रहे है:-

SEBI Full Form in Hindi:-

भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड

SEBI Full Form in English:-

Securities and Exchange Board of India

SEBI क्‍या है:-

भारत में शेयर बाजार से संबंधित विभिन्‍न गतिविधियों को चलाने तथा उनका प्रबंधन करने के लिए भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड की स्‍थापना की गई है,

यह बोर्ड भारत सरकार के स्‍वामित्‍व का है।

इसकी स्‍थापना 12/04/1988 को की गई थी, तथा SEBI ACT 1992 के माध्‍यम से इस बोर्ड का संवैधानिक शक्तियां प्रदान की गई।

SEBI का इतिहास:-

प्रतिभूति बाजार पर नियंत्रण हेतु Securities and Exchange Board of India की स्‍थापना वर्ष 1988 में गैर-वैधानिक निकाय के रूप में की गई थी।

वर्ष 1992 में भारतीय संसद द्वारा पारित सेबी अधिनियम 1992 के अधीन इस निकाय को संवैधानिक शक्तियां प्रदान की गई।

सेबी का मुख्‍यालय महाराष्‍ट्र राज्‍य के मुंबई में स्थित है।

साथ ही सेबी के क्षेत्रिय कार्यालय नई-दिल्‍ली, कोलकाता, चेन्‍नई, अमदाबार में है।

साथ ही स्‍थानीय कार्यालय जयपुर व बैंगलोर में है। तथा अन्‍य कार्यालय गुवाहाटी, भुवनेश्‍वर, पटना, कोच्चि और चंडीगढ में है। 

भारतीय प्रतिभूति एवं नियामक बोर्ड के पूर्व प्रतिभूति बाजार का नियंत्रण कैबिटल इश्‍यूज नियंत्रक करता था,

जिसे कैपिटल इश्‍यूज अधिनियम 1947 के अंतर्गत अधिकार प्राप्‍त हुआ था।

भारत के प्रतिभूति एवं नियामक बोर्ड का संचालन उनके सदस्‍यों द्वारा किया जाता है, इस बोर्ड में निम्‍न सदस्‍य शामिल होते है:-

  1. भारत सरकार द्वारा नामित :- अध्‍यक्ष,
  2. केन्‍द्रीय वित्‍त मंत्रालय के अधिकारीयों में से :- दो सदस्‍य,
  3. भारतीय रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया से :- एक सदस्‍य,
  4. भारत सरकार द्वारा नामित :- पांच सदस्‍य, ( जिनमें से कम से कम तीन सदस्‍य पूर्ण कालिक होते है।)

वर्तमान Securities and Exchange Board of India की संरचना:-

1.  अजय त्‍यागी :- अध्‍यक्ष,

2.  गुरूमूर्ति महालिंगम :- पूरे समय के सदस्‍य,

3.  एस.के. मोहंती :- पूरे समय के सदस्‍य,

4.  अनंत बरूआ :- पूरे समय के सदस्‍य,

5.  माधबी पुरी :- पूरे समय के सदस्‍य,

6.  एन.एस. विश्‍वनाथन :- अंशकालिक सदस्‍य,

7.  आनंद मोहन बजाज :- अंशकालिक सदस्‍य,

8.  के.वी.आर. मूर्ति :- अंशकालिक सदस्‍य,

9.  वी. रवि अंशुमान :- अंशकालिक सदस्‍य,

SEBI के कार्य एवं जिम्‍मेदारियां:-

भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड का मूल कार्य प्रतिभूतियों में निवेशकों के हितों की रक्षा और विकास हेतु तथा प्रतिभूति बाजार के नियंत्रण/विनियमितीकरण तथा संबंधित मामलों का निपटारा करना है।

SEBI की तीन शक्तियां एक निकाय में शामिल हैं :-

1.  पहला:- अर्ध-विधायी,

2.  दूसरा:- अर्ध-न्यायिक

3.  तीसरा:- अर्ध-कार्यकारी

सेबी अपनी शक्तियों के अंतर्गत नियमों को बनाता है,

तथा कार्यो की जांच आदि कार्यवाही की जाती है,

अपनी विधायी शक्तियों के अंतर्गत विभिन्‍न आदेश एवं नियम पारित करता है।

सेबी से संबंधित विधायी शक्तियों के लिए अपीलाीय न्‍यायाधिकरण भी है जो तीन सदस्‍यीकरण न्‍यायाधिकरण है,

इस न्‍यायाधिकरण के वर्तमान नेतृत्‍वकर्ता मेघालय उच्‍च न्‍यायालय के पूर्व मुख्‍य न्‍यायाधीश न्‍यायमूर्ति तरूण अग्रवाल है।

एक अन्‍य अपीलीय न्‍यायाधिकरण भारत के सुप्रीम कोर्ट में है।

अपने कार्यों के कुशलता से निर्वहन के लिए सेबी को निम्नलिखित शक्तियों के साथ निहित किया गया है:-

1.  प्रतिभूति नियमन हेतु विभिन्‍न नियमो का अनुमोदन,

2.  वर्तमान  प्रतिभूति नियमन के नियमों में आवश्‍यक संशोधन,

3.  मान्‍यता प्राप्‍त विभिन्‍न प्रतिभूति विनमयों की खाता बुकों का निरीक्षण एवं आवश्‍यक रिटर्न हेतु निर्देशित करना,

4.  प्रतिभूति बाजार में मध्‍यस्‍थ वित्‍तीय निकायों की खाता बुकों का निरीक्षण।

5.  निश्चित कंपनीयों को एक अथवा एक से अधिक प्रतिभूति विनियमों में सूचीबद्ध होने के लिए निर्देशित करना,

6.  ब्रोकर तथा सब-ब्रोकर का पंजीकरण।

SEBI के अंतर्गत विभिन्‍न समितियां है:-

1.  तकनीकी सलाहकार समिति,

2.  अवसंरचना संस्थानों की संरचना की समीक्षा के लिए समिति,

3.  सेबी निवेशक सुरक्षा और शिक्षा कोष के लिए सलाहकार समिति,

4.  टेकओवर विनियम सलाहकार समिति,

5.  प्राथमिक बाजार सलाहकार समिति,

6.  द्वितीयक बाजार सलाहकार समिति,

7.  म्यूचुअल फंड सलाहकार समिति,

8.  कॉर्पोरेट बांड और प्रतिभूति सलाहकार समिति,

विभिन्‍न आवश्‍यक फुल फाेर्म :-

CDMRD full form :- Commodity Derivatives Market Regulation Department

CFD full form :- Corporation Finance Department

DEPA full form :- Department of Economic and Policy Analysis

DDHS full form :- Department of Debt and Hybrid Securities

EFD full form :- Enforcement Department

EAD full form :- Enquiries and Adjudication Department

GSD full form :- General Services Department

HRDM full form :- Human Resources Department

ITD full form :- Information Technology Department

ISD full form :- Integrated Surveillance Department

IVD full form :- Investigations Department

IMD full form :- Investment Management Department

LAD full form :- Legal Affairs Department

MIRSD full form :- Market Intermediaries Regulation and Supervision Department

MRD full form :- Market Regulation Department

OIA full form :- Office of International Affairs

OIAE full form :- Office of Investor Assistance and Education

OCH full form :- Office of the chairman

ROs  full form :- Regional offices

Conclusion of SEBI full form post:-

हमने इस पोस्‍ट SEBI क्‍या है, SEBI full form क्‍या है, के माध्‍यम से सेबी के बारे में हिन्‍दी भाषा में जानकारी देने का प्रयास किया गया है।

आपको पोस्‍ट पसंद आई हो तो इसे शेयर जरूर करें।

You may also like...

Leave a Reply